महासमुन्द : बाड़ी कृषक श्री निषाद ने पाच क्विंटल सब्जी उगाकर छः हजार रूपए कमाएं

महासमुन्द. राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरूवा, बाड़ी महासमुन्द जिले के कृषकों के लिए लाभदायक साबित हुआ है। उद्यान विभाग के सहायक संचालक श्री एन.एस. कुशवाहा ने बताया कि जिले को डी.एम.एफ. बाड़ी का लक्ष्य 4000 एवं पोषण बाड़ी का लक्ष्य 1332 प्राप्त हुआ था। जिसका क्रियान्वयन जिले के सभी विकासखंडों में किया गया है। बाड़ी योजना शासन की एक ऐसी योजना है जिसमें कृषक अपने घर के आस-पास के खाली जगह का समुचित उपयोग कर अपनी आमदनी को बढ़ा सकते है। बाड़ी योजना में कृषकों को विभाग द्वारा फलदार पौधें के साथ-साथ सब्जी बीज प्रदाय किया जाता है। जिससे कृषकों को बाड़ी से प्राप्त ताजी सब्जियों से आवश्यक पोषक तत्व तथा अतिरिक्त आमदनी का जरिया बन रहा है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण अर्थव्यस्था में नरवा, गरवा, घुरूवा, बाड़ी में ‘‘बाड़ी अभियान‘‘ एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम साबित हो रहा है। बाड़ी को वैज्ञानिक एवं व्यवहारिक ढंग से निर्माण तथा देखरेख करने के लिए संबंधित क्षेत्र के ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी द्वारा जानकारी दिया जा रहा है।
महासमुन्द विकासखण्ड के ग्राम सिंघनपुर के कृषक श्री चिंताराम निषाद द्वारा 0.10 हेक्टेयर रकबे में डी.एम.एफ. बाड़ी कार्यक्रम लिया गया है। इसके लिए उन्हें उद्यान विभाग द्वारा बैंगन, टमाटर, करेला, लौकी एवं भिण्डी का बीज तथा खाद में वर्मी कम्पोस्ट एवं कार्डेन्डाझाईम, ऐजाडिरेक्टिन दवाई निःशुल्क प्रदाय किया गया। इस बाड़ी से कृषक श्री निषाद को लगभग पाॅच क्विंटल सब्जी प्राप्त हुआ। जिसका उपयोग कृषक स्वयं के परिवार के खाने के लिए तथा शेष बची सब्जियों को स्थानीय बाजार में विक्रय कर लगभग 6000 रूपए की आमदनी प्राप्त किए है।

Leave a Comment